Jeff Bezos Biography in Hindi | Amazon Success Story | जेफ बेज़ोस : विश्व के सबसे धनी आदमी की कहानी

नमस्कार दोस्तों hindiasha की नई पोस्ट amazon Success Story पर एक बार फिर से आपका स्वागत है

यदि आप कभी भी किसी भले काम की आलोचना नहीं झेल सकते तो आप कभी कोई नया काम मत कीजिये यदि आप ज़िदी नहीं है तो आप जल्दी ही हार मान जायेंगे ये शब्द है बिल गेट्स को पछाड़कर हाल ही में बने दुनिया के सबसे अमीर आदमीं जेफ्फ बेज़ोज़ के , जो Amazon.com के फाउंडर है

अमेज़न एक ऐसा नाम है जिससे अब कोई भी अनजान नहीं रहा है आज से लगभग 20 साल पहले लांच हुयी ecommerce वेबसाइट आज दुनिया की सबसे बड़ी online रिटेलर कंपनी का तमगा लिए भारत में छा चुकी है

ये कहानी है जेफ़ बेज़ोज़ की जो अमेज़न कंपनी के फाउंडर और ओनर है जिनका जन्म 12 जुलाई 1964 को यूनाइटेड स्टेट्स के न्यू मक्सिको शहर में हुआ था उनको जन्म देने वाली उनकी माँ जेकलीन उस समय 17 साल की नाबालिग युवती थी और जेफ़ जब 3 साल के थे तब उनके पिता उनकी माँ और जेफ़ को अकेले छोड़कर चले गए थे

कहते है पूत के पाँव पलने में ही दिख जाते है जब जेफ़ चलना भी नहीं जानते थे तब वे स्क्रू ड्राईवर लेकर अपने पालने को खोलने की कोशिश करते थे उनकी माँ ने Miguel Bezos से शादी की और जेफ़ अपने सोतेले पिता की देखरेख में पले-बढ़े

Amazon Success Story

 

जब जेफ़ थोड़े बड़े हुए तो उनका इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स में इंटरेस्ट ड़ेवेलोप हुआ बचपन में उनके सोतेले भाई उनके कमरे में बिना बताये ना घुसे इसके लिए उन्होंने एक इलेक्ट्रॉनिक अलार्म बनाया था

जब जेफ़ 4th क्लास में थे तब उनकी स्कूल में पहला कंप्यूटर आया था  तब टीचर्स को भी कंप्यूटर चलाना नहीं आता था तब जेफ़ ने अपने दोस्तों की मदद से कंप्यूटर का मैन्युअल पढ़कर कंप्यूटर चलाना सिख लिया

उनके इसी टैलेंट की वजह से यूनिवर्सिटी ऑफ़ फ्लोरिडा की तरफ से उन्हें सिल्वर नाईट का अवार्ड और स्कालरशिप मिली और उन्होंने प्रिन्सटन यूनिवर्सिटी से बेचलर ऑफ़ साइंस और कंप्यूटर साइंस में इंजीनियरिंग की

कॉलेज से स्नातक होने के बाद 1986 में वाल स्ट्रीट नेव्योर्क में उन्हें कंप्यूटर साइंस फील्ड में एक बड़ी नौकरी मिल गयी जेफ़ को किताबो से बहुत लगाव था और वो हमेशा कुछ ना कुछ पढ़ते रहते थे

अप्रैल 1994 में एक दिन नेट सर्फिंग के दौरान उन्हें पता चला कि वेब users की संख्या हर साल 2300 प्रतिशत की दर से बढ़ रही है

पलक झपकते ही उनके मन में आईडिया आया कि क्यों न online बिज़नेस किया जाये अपने आईडिया को साकार करने के लिए उन्होंने अपनी अच्छी खासी नौकरी छोड़ दी यक़ीनन ये जोखिम भरा फैसला था

खासतौर पर तब जब उनकी नयी-नयी शादी हुयी थी अब सवाल ये था कि नेट पर बेचा क्या जाये  गहरे विचार और मंथन के बाद उन्हें आईडिया आया ऑनलाइन बुक selling का

उन्होंने 1994 में अपनी online कंपनी की स्थापना की और 1996 में इसकी शुरुआत की जेफ्फ पहले इसका नाम Cadbara.com रखना चाहते थे लेकिन 3 महीने बाद उन्होंने इसका नाम बदलकर amazon.com रखा उन्होंने इसका नाम A लैटर से इसलिए रखा ताकि इन्टरनेट सर्च अल्फाबेटिकल आर्डर में ये जल्दी आये

उन्होंने संसार की सबसे बड़ी नदी अमेज़न का नाम इसलिए चुना क्योकि वो अपनी कंपनी को दुनिया की सबसे बड़ी online बुक selling कंपनी बनाना चाहते थे उनकी वेबसाइट online बुक स्टोर के तौर पर शुरू हुयी थी लेकिन बाद में DVD,Software,इलेक्ट्रॉनिक्स और दुसरे सामान बेचने लगी

amazon success story

जेफ़ ने अपनी कम्पनी की शुरुआत अपने घर के गैराज से की थी जहा सिर्फ 3 कंप्यूटर और कर्मचारी थे online बिक्री का सॉफ्टवेर खुद जेफ़ ने बनाया था और 3 लाख डॉलर की शुरूआती इन्वेस्टमेंट उनके माता-पिता ने लगायी थी कंपनी की स्थापना के वक़्त जेफ़ के पिता ने उनसे ये सवाल पुछा था कि इन्टरनेट क्या होता है ?

तब उनकी माँ ने जवाब दिया कि हम इन्टरनेट पर दाव नहीं लगा रहे है हम तो अपने बेटे जेफ़ पर दाव लगा रहे है माता-पिता का यह विश्वास सत प्रतिशत सही साबित हुआ और अमेज़न की 6 प्रतिशत शेयर के मालिक होने के कारण उनके माता-पिता अरबपति बन गये 16 जुलाई 1995 से जेफ़ ने अपनी वेबसाइट पर पुस्तके बेचना शुरू किया

पहले ही महीने अमेज़न ने अमेरिका के 50 राज्यों और 45 अन्य देशो में अपनी सारी पुस्तके बेच डाली लेकिन यह काम आसान नहीं था ज़मीन पर घुटनो के बल बैठकर किताबो को पैक करना पड़ता था और पार्सल देने के लिए खुद जेफ़ को भी जाना पड़ता था

पुस्तकों की पैकिंग करते समय एक दिन जेफ़ ने अपने साथियो से पूछा कि तुम्हे पता है इस काम को आसान बनाने के और क्या करना चाहिए तब साथी ने जवाब दिया कि हमे घुटनों के निचे तकिया रख लेना चाहिए तब जेफ़ हँस पड़े और अगले ही दिन उन्होंने कुछ टेबले खरीदी ताकि उन टेबलो पर किताबो की पैकिंग की जा सके जेफ़ की मेहनत रंग लायी और सितम्बर तक हर हफ्ते 20 हज़ार डॉलर की कमाई होने लगी

2007 तक अमेज़न online बिक्री का जाना माना ब्रांड बन चुकी थी लेकिन कंपनी का टर्निंग पॉइंट तब आया जब 2007 में अमेज़न kindle ई-बुक बाज़ार में उतरा जिसके माध्यम से पुस्तकों को तुरंत डाउनलोड करके पढ़ा जा सकता है

नवम्बर 2007 में kindle मार्केट में उतरने के 6 घंटे के अन्दर ही kindle का सारा स्टॉक बिक गया और अगले 5 महीने तक आउट ऑफ़ स्टॉक रहा kindle रीडर की वजह से ही अमेज़न ने अमेरिका की 95 प्रतिशत इ-बुक कॉमर्स पर कब्ज़ा कर लिया

Kindle अमेज़न के लिए बहुत ही फायदेमंद साबित हुआ क्योंकि इस से पुस्तकों की शौपिंग की झन्झट नहीं थी और खर्चा भी बचा और स्थायी ग्राहक भी बन गये

आखिर ऐसा क्या हुआ की 3 कर्मचारियों से शुरू हुयी कम्पनी में आज 3 लाख से ज्यादा कर्मचारी काम कर रहे है‌  और जेफ़ बेज़ोज़ बिल गेट्स को पीछे छोड़कर दुनिया के सबसे अमीर आदमी बन चुके है

आइये जानते है जेफ़ की ज़िन्दगी के मूल मन्त्र जिन पर चलकर वे दुनिया के सबसे अमीर आदमी बन पाए

जेफ़ बेज़ोज़ कहते है कि यदि आप longterm फ्यूचर के बारे में सोचे तो जीवन संबधी अछे निर्णय ले सकते है जिनपर बाद में आपको अफ़सोस नहीं होगा जेफ़ ने हमेशा longterm फ्यूचर और मिनिमम पश्चाताप की निति पर बिज़नस का निर्णय लिया

उन्होंने सोचा था कि 60 साल की आयु में नौकरी छोड़ने का अफ़सोस तो नहीं होगा लेकिन वो ये बात अछी तरह से जानते थे कि कोशिश ना करने का अफ़सोस हमेशा रहेगा l इसलिए उन्होंने कोशिश की और सफलता की शिखर तक पहुच गये

नया काम सफल होने का सबसे आसान तरीका है जेफ़ की सफलता का मूल मन्त्र भी यही है कि उन्होंने पुस्तकों की online selling का काम शुरू किया l उन्होंने अपनी वेबसाइट amazon.com पर कई नयी विषेताये जोड़ी जैसे-one click shopping, Customer Review, Email ID Verification आदि

जेफ़ ने जब अमेज़न शुरू किया था तब उनके पास मार्केटिंग का बजट नहीं था इसलिए advertisement देने का कोई सवाल ही नहीं था   बाद में उन्होंने सोचा कि सबसे अच्छा advertisement यही है कि कस्टमर अपने friends और relatives के सामने अमेज़न की तारीफ़ करे

जेफ़ कस्टमर्स को एक बेहतरीन अनुभव देते थे  जेफ़ ने अपने प्रोडक्ट और सर्विसेज को इतना बेहतर बनाया कि कस्टमर्स खुद उनकी तारीफ और प्रचार करने लगे l

दोस्तों ये थी जेफ़ बेज़ोज़ और amazon.com की सफलता की inspiring जर्नी, जो हमेशा enternprenurs को प्रेरित करती रहेगी  उम्मीद करता हु आपको यह पोस्ट Amazon Success Story जरुर पसंद आई होगी आप यह पोस्ट शेयर जरुर करे

यह भी पढिये : 

रतन टाटा की प्रेरणादायक कहानी- रतन टाटा ने कैसे अपने अपमान का बदला लिया

Stephen Hawkings -मौत को मात देने वाले वैज्ञानिक की Inspirational कहानी

The Famous Entrepreneur Elon musk सफलता की कहानी Inspirational Story In Hindi

Bill Gates Story हिंदी – How Successful People Think प्रेरणादायक कहानी

2 Comments

Leave a Comment

कृपया प्रतीक्षा करे

Latest अपडेट प्राप्त करे

Hindiasha की नयी पोस्ट की अपडेट के लिए सब्सक्राइब करे
%d bloggers like this: