ब्रूस ली “एक महामानव” सफलता की कहानी Bruce Lee Biography In Hindi

नमस्कार दोस्तों hindiasha की नयी पोस्ट “ब्रूस ली “एक महामानव”  सफलता की कहानी” Bruce Lee Biography In Hindi पर एक बार फिर से स्वागत है

अगर दुनिया के सबसे तेज़ आदमी की बात की जाये या फिर बात की जाए मार्शल आर्ट्स की तो आज भी एक मात्र सख्स का चेहरा हमारे दिमाग में आता है वो है ब्रूस ली

जो अपनी बिजली जैसी फुर्ती और खतरनाक तेज़ किक से सेकंडो में किसी को भी धुल चटा सकते थे दोस्तों वैसे तो बहुत कम लोग होगे जो ब्रूस ली के नाम से वाकिफ नहीं होंगे लेकिन जो उनके बारे में नहीं जानता है उन्हें मै बता देता हु  कि ब्रूस ली मार्शल आर्ट्स के बादशाह थे या ऐसा कह लीजिये कि उनके जैसा मार्शल आर्ट्स का हुनरबाज़ उनके बाद आज तक कोई पैदा नहीं हुआ

ब्रूस ली मार्शल आर्ट्स के बादशाह  होने के साथ-साथ वो हॉलीवुड फिल्मो के बहुत बड़े अभिनेता भी थे उन्होंने बहुत सारी सुपरहिट फिल्मे भी की है दोस्तों ब्रूस ली की मृत्यु ३२ वर्ष कि बहुत कम आयु में हो गयी थी जिसके बारे में विस्तृत से आगे बताऊंगा लेकिन उन्होंने इस छोटी सी उम्र में जितना कुछ कर दिखाया था वो हर किसी के बस की बात नहीं है

ब्रूस ली के जीवन के बारे में बताने से पहले मै आपको उनकी कुछ अद्भुत तथ्य शेयर करना चाहूँगा जिससे आपके अन्दर उनके जीवन के बारे में जानने की रूचि और भी बढ़ जाएगी


bruce lee biography in hindi

दोस्तों कहा जाता है कि ब्रूस ली के किक की स्पीड इतनी तेज़ होती थी कि फिल्म की शूटिंग के बाद उनके फाइटिंग सीन को स्लो करना पड़ता था ताकि स्क्रीन पर यह ना लगे कि ब्रूस ली  नकली एक्टिंग कर रहे है क्योकि किसी भी आम इंसान का इतनी स्पीड से हाथ पैर चलाना संभव ही नहीं था ब्रूस ली किसी भी इंसान से ३ फीट की दुरी पर खड़े होने के बावजूद 0.05 सेकंड में पंच मारकर गिरा सकते थे जो कि अपने आपमें एक अद्भुत टैलेंट था ब्रूस ली भारत के गामा पहलवान के बहुत बड़े प्रशंसक थे

गामा पहलवान दुनिया के इकलोते पहलवान थे जिन्हें पूरी ज़िन्दगी कोई भी मात नहीं दे पाया था उन्होंने अपनी बॉडी पत्थर के डम्बल और औजारों से बनाई थी उनके जैसा पहलवान भारत को अभी तक नहीं मिल सका ये तो हो गयी ब्रूस ली के बारे में कुछ अद्भुत बाते तो चलिए अब ब्रुक ली की ज़िन्दगी के बारे में बात करते है

ब्रूस ली का जन्म 27 नवम्बर 1940 को सैन फ्रांसिस्को के चाइना टाउन मव जैक्सन स्ट्रीट हॉस्पिटल में हुआ था ब्रूस ली का वास्तविक नाम जुन फेन ली था ब्रूस नाम उन्हें हॉस्पिटल कि नर्स ने दिया था जहा वो पैदा हुए थे

उनके पिता का नाम ली होई चुएन्न था जो कि एक चीनी थे और उनकी माँ का नाम केथोलिक था ब्रूस ली के पैदा होने के कुछ समय बाद ही उनके पिता पुरे परिवार के साथ अपने जन्म स्थान हांगकांग वापस आ गये होई चुएन्न एक ओपेरा स्टार थे दोस्तों अगर आपको ओपेरा के बारे में नहीं पता तो ये एक नाटकीय संगीत है मतलब इसमें कुछ लोगो का समूह एक्टिंग करते हुए गाना गाते है इस तरह के संगीत को यूरोपीयनदेशो में बहुत पसंद किया जाता है

उनके पिता के ओपेरा स्टार होने की वजह से ही ब्रूस ली को Golden Gate Girl फिल्म में एक बच्चे का किरदार मिला और उनका फ़िल्मी सफ़र मात्र ३ महीने कि आयु से स्टार्ट हो गया और देखते ही देखते 16 वर्ष की आयु तक उन्होंने 20 से ज्यादा फिल्मो में काम कर लिया

ब्रूस ली ने अपनी प्रारंभिक पढाई पास के ही एक स्कूल से की जब ली 16 साल के थे तब उनके शहर में कुछ गुंडे आकर बस गये थे जो कि आम लोगो को बहुत ही परेशान किया करते थे इसीलिये वो अपनी और अपने परिवार की सुरक्षा के लिए 16 साल कि उम्र में मार्शल आर्ट का हुनर सीखना शुरू कर दिया उन्होंने YIP MAN से ट्रेनिंग ली जो कि एक जाने-माने ट्रेनर थे  उन्होंने ली को विंग चुन मार्शल आर्ट का अद्भुत टेकनिक सिखाई


मार्शल आर्ट सिखाने के बाद ली को गुंडों से लड़ने का एक शौक सा हो गया था जिसकी वजह से उनके पिता बहुत परेशान रहते थे और ना चाहते हुए भी उन्होंने ब्रूस ली को अमेरिका भेज दिया वहा जाकर ब्रूस ली ने अपने खर्चो के लिए गार्डन में मार्शल आर्ट्स सिखाना शुरू कर दिया और कुछ पैसे जुटाकर ली ने यूनिवर्सिटी ऑफ़ वाशिंगटन में प्रवेश ले लिया और वहा भी उन्होंने स्टूडेंट्स को मार्शल आर्ट्स कि ट्रेनिंग देनी चालू कर दी

इसी बिच उनकी मुलाकात लिंडा एमरिक से हुयी और वो लिंडा को अपना दिल दे बैठे और अगस्त 1964 में शादी कर ली ब्रूस ली और लिंडा के दो बच्चे ब्रैंडन ली और शानोम ली हुए बड़े होकर ब्रैंडन अपने पिता कि तरह एक एक्टर बने लेकिन 1993 में एक फिल्म कि शूटिंग के दौरान उन्हें बन्दूक के गोली लग गयी जिस से उनकी मृत्यु हो गयी


वही शानोंन ली ने भी 1990 के दशक तक कुछ फिल्मो में काम किया और फिर उन्होंने एक्टिंग छोड़ दी

ब्रूस ली ने 1969 में लोंस एंजेल्स के चाइना टाउन में उन्होंने मार्शल आर्ट्स सिखाने के लिए एक ट्रेनिंग सेन्टर खोल लिया जहा वो बड़े-बड़े एक्टर्स को मार्शल आर्ट्स की ट्रेनिंग दिया करते थे उसी साल उन्होंने हेल्पिंग एक्टर के तौर पर मार्लो नाम की फिल्म में काम किया था

ब्रूस ली ने अभी तक तो बहुत सारी फिल्मो में काम किया था लेकिन अभी वे अपनी एक्टिंग के लिये फेमस नहीं हुए थे उनकी पहली बड़ी फ़िल्म 1971 में बिग बॉस आई जो कि एक चाइनिज फिल्म थी जिसमे उन्होंने मुख्य किरदार निभाया था इस फिल्म कि वजह से ब्रूस ली पूरी दुनिया में प्रशिद्ध हो गये थे


इसके बाद देखते ही देखते उन्होंने एक्टिंग की दुनिया में बड़ी सफ़लता हासिल कर ली और कई सुपरहिट फिल्मो में काम किया ब्रूस ली एक अच्छे आर्टिस्ट और कवि भी थे उन्हें किताब पढने का बहुत शौक था

इतनी सफलता के बाद किसी इंसान कि ज़िन्दगी में अफ़वाहे ना आये ऐसा तो संभव ही नहीं है लोग कहते है कि बुलंदी पर पहुचने के बाद उन्हें नशीली दवाओं के सेवन का शौक पैदा हो गया था वो अपने आप को मार्शल आर्ट्स का सम्पूर्ण गुरु बनाने की सनक में बहुत ज्यादा मार्शल आर्ट्स का अभ्यास करने लग गये थे जिस से उनके दिमाग की नसें कमजोर हो गयी थी

20 जुलाई 1973 की शाम को ब्रूस ली के सर में हल्का सा दर्द हुआ उन्होंने दर्द कि दवाई ली और थोड़ी ही देर में बेहोश हो गये वहा से तुरंत उन्हें अस्पताल ले जाया गया लेकिन उनकी बेहोशी फिर कभी नहीं टूटी

और यह मार्शल आर्ट्स का बादशाह ३२ वर्ष कि कम उम्र में ही इस दुनिया को अलविदा कह गया

दोस्तों ब्रूस ली का कहना था कि “अगर आप किसी चीज़ के बारे में सोचने में बहुत अधिक समय लगाते है तो आप उसे कभी कर नहीं पाएंगे”

दोस्तों उम्मीद करता हूँ आपको यह लेख Bruce Lee Biography In Hindi जरुर पसंद आया होगा अगर आपके पास भी कोई विचार या प्रेरणादायक लेख है तो हमारे साथ जरुर शेयर करे


यह भी पढ़े – 

एक सोच से अपनी पहचान सबसे अलग कैसे बनाये How to Think Different

ज़िन्दगी हर मोड़ पर इम्तिहान क्यों लेती है ? Never Lose Hope Inspirational Thoughts  प्रेरणादायक विचार

 

3 Comments

Leave a Comment

कृपया प्रतीक्षा करे

Latest अपडेट प्राप्त करे

Hindiasha की नयी पोस्ट की अपडेट के लिए सब्सक्राइब करे
%d bloggers like this: