The Famous Entrepreneur Elon musk सफलता की कहानी Inspirational Story In Hindi

 

नमस्कार दोस्तों hindiasha की नई पोस्ट “The Famous Entrepreneur Elon musk  biography hindi सफलता की कहानी Inspirational Story In Hindi” पर आपका एक बार फिर से स्वागत है

दोस्तों ये कहानी है एलोन मस्क की जो इस वक़्त दुनिया के सबसे मशहूर,जीनियस और Enternprenur है जिन्हें मै दुनिया का ग्रेटेस्ट अलाइव मानता हु मै ऐसा क्यों कह रहा हु आप इस पोस्ट को पढने के बाद खुद-ब-खुद जान जायेंगे ये कहांनी आपके नजरिये को पूरी तरह से बदल देगी तो दोस्तों शुरू करते है इस मशहूर enternprenur की कहानी

elon musk biography hindi

एलोन मस्क का जन्म 28 जून 1971 को साउथ अफ्रीका के प्रिटोरिया सहर में हुआ था उनके पिताजी एक इंजिनियर और माँ एक मॉडल थी जब एलोन 9 साल के थे तब इनके माता-पिता तलाक लेकर अलग हो गये और एलन अपने पिता के साथ प्रिटोरिया में रहने लगे उनके 2 छोटे भाई बहिन भी थे जिनपर उनके पिता बिलकुल भी ध्यान नहीं देते थे

एलोन बचपन से ही शर्मीले और किताबो में घुसे रहने वाले लड़के थे और १० साल की आयु तक उन्होंने ऐसी किताबे पढ़ ली थी जो कॉलेज स्टूडेंट भी नहीं पढ़ते थे और 12 साल की उम्र में एलोन ने अपने घर पर ही रखे कंप्यूटर पर कुछ बुक्स की मदद से कंप्यूटर प्रोग्रामिंग सीखकर लास्ट r गेम ड़ेवेलोप कर लिया

बेसिक लैंग्वेज में बने इस विडियो गेम को ड़ेवेलोप कर लिया और उन्होंने इस गेम को 500 डॉलर में एक कंपनी को बेच दिया उन्होंने अपने स्कूल की फीस इन्ही पैसो से भरी स्कूल में फीस तो भर दी लेकिन स्कूल में कुछ बदमास बच्चे उनसे मार पिट करते थे एक बार उन बदमास बचू ने मिलकर एलोन को इतना मार की वो बेहोश हो गए

और इसके बाद उन्होंने एलोन को सीढियों से निचे फेक दिया उन्हें होस्पिटल में एडमिट करवाया गया और काफी दिनों बाद उनकी यादास्त आई इस घटना के बाद एलोन को आज भी सांस लेने में तकलीफ होती है जैसे-तैसे 17 साल की उम्र में साउथ अफ्रीका से ओने हाई स्कूल की पढाई पूरी कर ली

इसके बाद वो अपनी माँ के पास कनाडा रहने चले गए और वही की नागरिकता मिल गयी यहाँ पर उन्हें पेंसिल्वेलिया यूनिवर्सिटी से बेचलर डिग्री फिजिक्स में और वार्डन स्कूल ऑफ़ बिज़नस से इकोनॉमिक्स में डिग्री हासिल की पैसो की कमी पूरी करने के लिए कनाडा में एलोन ने कई छोटी- मोटी नौकरिया की

यह तक की उन्होंने नाली साफ करने की नौकरी भी की और इसके बाद 1995 में फिजिक्स में पीएचडी करने के लिया वो कनाडा से usa शिफ्ट हो गए और स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी में दाखिला ले लिया लेकिन्याहा आते ही उन्हें इन्टरनेट बूम का अंदाजा हो गया और 2 दिन में ही पीएचडी से ड्रॉपआउट ले लिया और अपना सारा ध्यान इन्टरनेट में लगाया 1995 में ही एलोन मस्क और उनके भाई किम्बें मस्क अपने पिता से मिली पेट्र्क सम्पति से एक online सॉफ्टवेर कंपनी ज़िप२ का निर्माण किया

जो online न्यूज़ पेपर इंडस्ट्रीज के लिए सिटी गाइड का काम करती थी ज़िप२ को एलोन और उनके भाई ने मशहूर पर्सनल कंप्यूटर कंपनी  कॉम्पैक को 307 मिलियन डॉलर में बेच दिया एलोन मस्क को इसका 7 प्रतिशत यानि लगभग २२ मिलियन डॉलर मिले दोस्तों २२ मिलियन डॉलर कम नही होते लेकिन एलोन मस्क के दिमाग में कुछ और ही चल रहा था

उन्होंने इन पैसो से x.com वेबसाइट बनायीं जिसका नाम बदलकर paypal कर दिया जुलाई २००२ में ebay.com ने 1.5 बिलियन डॉलर में ख़रीदा जिसमे से 165 मिलियन डॉलर एलोन मस्क को मिले लेकिन इतने से भी वो संतुष्ट नहीं हुए उन्होंने payment इंडस्ट्री में तो फाइनेंसियल बदलाव ला दिया था लेकिन वो अब हुमिनटी को धरती से बहार बसाना चाहते थे और एक बदलाव लाना चाहते थे

उन्होंने अपने विसुअल्ली माइंड में कुछ ऐसा सोच रखा था की अक्सर लोग सुनकर ये कहते थे की ये इंसान पागल हो गया है उन्होंने अपना सारा पैसा वेरियस कंपनी में लगा दिया और लोस अन्जेल्स में जाकर अपने दोस्तों के यहाँ किराये पर रहने लगे 2002 में return में जो पैसा आया उस से उन्होंने एक कंपनी space x बनायी जो की एक प्राइवेट कंपनी थी जिसका इनिशियल गोल मंगल गृह पर इंसान को बसांना था उने space साइंस और एरोनॉटिक्स की कोई डिग्री नहीं ली थी लेकिन उन्होंने एरोनॉटिक्स की किताबे घर पर ही पढ़कर इतना नॉलेज इकठा कर लिया था की उन्होंने खुद की प्राइवेट एजेंसी space x बना दी इतने बड़े प्रोजेक्ट पर बहुत से पैसो की और टेक्नोलॉजी की जरुरत थी

इसलिए उन्होंने settelite को पृथ्वी की ऑर्बिट में भेजकर पैसे कमाने का प्लान बनाया लेकिन इसके लिए उनके पास रॉकेट्स बनाने की technic नहीं थी रॉकेट्स खरीदने के लिए वो रूस गये जहा उन्होंने देखा रॉकेट्स की प्राइस बहुत ज्यादा है जिस से settelite ऑर्बिट में पहुचाना बहुत ही महंगा था उन्होंने खुद का राकेट USA में बनाने का बोल्ड step लिए जो अब तक किसिस भी प्राइवेट कंपनी ने नहीं लिया था

उन्होंने खुद की टेक्नोलॉजी से खुद के राकेट बनाए और अपने राकेट को space में भेजने की तेयारी की एक के बाद एक लगातार 3 बार रॉकेट्स space तक नहीं पहुच पाए और क्रेश हो गए इन तीनो failed attempts ने एलोन को फैनेंसिअली कंगाली की कगार पर लाकर खड़ा कर दिया ऐसे में वो अपने छोटे प्रयास में जूट गए

जिसके कारन उन्हें कई लोगो ने उन्हें पागल संनकी तक कहा लेकिन इस जीनियस ने अपनी साडी गलतियों में सुधार करते हुए अपनी नाकामयाबी को कामयाबी में तब्दील कर लिया उनकी कामयाबी से space इंडस्ट्रीज में खलबली मच गयी की कैसे एक आदमी जिसने कभी कोई राकेट साइंस की पढाई नहीं की वो space में settelite लांच करने लगा है

space x कंपनी अब एक space ट्रांसपोर्ट बन चुकी है जो कम खर्च पर नासा space एजेंसी के उपकरण कार्गो और settelite ऑर्बिट तक पहुचाती है दोस्तों इसमें कोई सक नहीं है की हमें इसरो पर गर्व है और कुछ दिन पहले १०४ settelite अंतरिक्ष में भेजकर पूरी दुनिया में नाम रोशन कर दिया है  इसरो हमारे भरे टैक्स पर ही काम करती है

लेकिन इसरो के राकेट reuseable टेक्नोलॉजी पर बेस्ड नहीं है जिस से हमाँरे राकेट केवल एक बार ही यूज़ किये जाते है और वो राकेट space से धरती पर वापस कभी नहीं आते है लेकिन space x ने इसरो से ज्यादा महारत हाशिल कर ली है space x के राकेट reuseable टेकनिक पर आधारित है

जिस से वो दुबारा एक के बाद एक पुरे मिशन कर सकते है जो की इसरो समेत कई बड़ी एजेंसीज के लिए एक चुनोती है केवल इतना ही नहीं एलोन एक ऐसा settelite space में  छोड़ना चाहते है जिस से पूरी धरती पर किसी भी जगह बिना नेटवर्क प्रॉब्लम के तेज़ इन्टरनेट लोग चला पाए ये क्कुह कुछ वैसा ही है

निकोला टेस्ला ने वायर लेस बिजली के बारे में सोचा था इसके बाद एलोन कभी पीछे नहीं मुड़े थे एलोन २००४ में टेसला मोटर्स कंपनी में अपना इन्वेस्ट लगाया था जो टेसला कोयल पर आधारित इलेक्ट्रॉनिक कार बना रही थी अपने विज़न और हुनर से टेसला के सीईओ बन गए टेसला मोटर्स का फ्यूचर बहुत ब्राइट है क्योकि एलोन ने पहले ही भाप लिया था की आने वाला समय इलेक्ट्रॉनिक्स कार का है

लेकिन एलोन इसके बाद भी नहीं रुके उन्होंने एक और कंपनी की नीव रख दी सोल्लर सिटी जो usa की दूसरी सबसे बड़ी सोल्लर कंपनी है इसके बाद उन्होंने एक प्रोजेक्ट की शुरुआत की हाइपर लूप यह एक पब्लिक ट्रांसपोर्टेशन प्रोजेक्ट है

जिसमे लोग बैठकर 1 हज़ार किलोमीटर से ज्यादा की गति से ग्राउंड लेवल पर सफ़र कर पाएंगे यह वेक्यूम और मेग्नेटिक अनर्जी पर बना अपनी तरह का पहला प्रोजेक्ट है जो अभी ट्रायल अवधि पर है जो पूरा होने पर ग्राउंड लेवल पर दुनिया का सबसे तेज ट्रांसपोर्ट सिस्टम बन जायेगा जो बुलेट ट्रेन से भी ज्यादा होगा

दोस्तों अब तो आपको पता चल गया होगा की मै एलोन मस्क का इतना बड़ा फेन क्यों हु जिन्होंने बचपन से ही संघर्ष पूर्ण जीवन जिया और अपने visually माईंड से भविष्य देखने में माहिर बन पाए और मानवता के लिए अछे काम कर रहे है

उन्होंने एक फॉर्म साइन किया है जिसमे वो अपन i कमाई का ज्यदातर हिशा मानवता के भले के लिए चैरिटी में दान कर देते है टेस्ला मोटर्स के सीईओ रहते हुए उनकी वार्षिक आमदनी मात्र 1 डॉलर है

एलोन ने २०१४ में निकोलस टेस्ला के भतीजे को विल्लियम टर्बो को टेस्ला साइंस कंस्ट्रक्शन के लिए 1 मिलियन डॉलर दिए एलोन मस्क को स्क्वायर मैगजीन ने २१वी सताब्दी के टॉप 75 प्रभावशाली लोगो में शामिल किया और २०१३ फार्च्यून मैगजीन ने बिज़नस पर्सन ऑफ़ दा इयर से सम्मानित किया है

उम्मीद करता हु आपको एलोन मस्क की यह कहानी जरुर पसंद आई होगी अगर आपकी कोई राय या विचार है तो आप हमें कमेंट जरुर करे

Leave a Comment

कृपया प्रतीक्षा करे

Latest अपडेट प्राप्त करे

Hindiasha की नयी पोस्ट की अपडेट के लिए सब्सक्राइब करे
%d bloggers like this: