कोई भी काम छोटा नही होता है Inspirational Stories in hindi

Changing Thought Inspirational Stories in Hindi

 

 

अक्सर हमारे सामने मुसीबते आती है तो हम उनके सामने पस्त हो जाते है। उस समय हमे कुछ   ( Inspirational Stories in Hindi ) समझ नहीं आता की क्या सही है और क्या गलत।

हर व्यक्ति का परिस्थितियो को देखने का नज़रिया अलग अलग होता है। कई बार हमारी ज़िंदगी मे मुसीबतों का पहाड़ टूट पढ़ता है।उस कठिन समय मे कुछ लोग टूट जाते है तो कुछ संभाल जाते है। हमारे जीवन के छोटे से छोटे कार्य भी हमारे जीवन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

दोस्तो आज मै ऐसी ही एक कहानी आपके साथ share करने जा रहा हु जो निश्चित तौर पर आपकी सोच बदल देगी

Changing Thought Inspirational कहानी हिन्दी मे

Inspirational Stories in hindi

Inspirational Stories in hindi

एक बडी कंपनी के गेट के सामने एक प्रसिद्ध समोसे की दुकान थी, लंच टाइम मे अक्सर कंपनी के कर्मचारी वहाँ आकर समोसे खाया करते थे।

एक दिन कंपनी के एक मैनेजर समोसे खाते खाते समोसेवाले से मजाक के मूड मे आ गये।

मैनेजर साहब ने समोसेवाले से कहा, “यार गोपाल, तुम्हारी दुकान तुमने बहुत अच्छे से maintain की है, लेकीन क्या तुम्हे नही लगता के तुम अपना समय और टैलेंट समोसे बेचकर बर्बाद कर रहे हो.?

सोचो अगर तुम मेरी तरह इस कंपनी मे काम कर रहे होते तो आज कहा होते.. हो सकता है शायद तुम भी आज मैंनेजर होते मेरी तरह..”

इस बात पर समोसेवाले गोपाल ने बडा सोचा  और बोला – ” सर ये मेरा काम आपके काम से कही बेहतर है, 10 साल पहले जब मै टोकरी मे समोसे बेचता था तभी आपकी जॉब लगी थी  तब मै महीना एक हजार रुपये कमाता था और आपकी पगार थी 10 हजार ।

इन 10 सालो मे हम दोनो ने खूब मेहनत की..
आप सुपरवाइजर से मॅनेजर बन गये.
और मै एक टोकरी से इस प्रसिद्ध दुकान तक पहुँच गया.
आज आप महीना 50 हज़ार कमाते है
और मै महीना 2 लाख

लेकिन इस बात के लिए मै मेरे काम को आपके काम से बेहतर नही कह रहा हूँ।

ये तो मै बच्चों के कारण कह रहा हूँ।

इसे भी पढ़िये   –    Success Story in Hindi खेतो मे मजदूरी से आईटी कंपनी तक की यात्रा

 

जरा सोचिए सर मैने तो बहुत कम कमाई पर धंधा शुरू किया था, मगर मेरे बेटे को यह सब नही झेलना पडेगा।

मेरी दुकान मेरे बेटे को मिलेगी, मैने जिंदगी मे जो मेहनत की है, वो उसका लाभ मेरे बच्चे उठाएंगे। जबकी आपकी जिंदगी भर की मेहनत का लाभ आपके मालिक के बच्चे उठाएंगे।

अब आपके बेटे को आप Directly अपनी पोस्ट पर तो नही बिठा सकते ना.. उसे भी आपकी ही तरह जीरो से शुरूआत करनी पडेगी.. और अपने कार्यकाल के अंत मे वही पहुच जाएगा जहाँ अभी आप हो।

जबकी मेरा बेटा बिजनेस को यहा से और आगे ले जाएगा..
और अपने कार्यकाल मे हम सबसे बहुत आगे निकल जाएगा..

अब आप ही बताइये किसका समय और टैलेंट बर्बाद हो रहा है ?”

मैनेजर साहब ने समोसेवाले को 2 समोसे के 20 रुपये दिये और बिना कुछ बोले वहाँ से खिसक लिये ।.

दरअसल, काम कोई भी हो, वह छोटा या बड़ा नहीं होता। हमारा नजरिया ही उसे छोटा या बड़ा बना देता है| और हर फील्ड का एक टॉप होता है| हमारा मकसद उस टॉप को पाना होना चाहिए|

 

बड़ी से बड़ी कंपनी में नौकरी करने के बाद भी कोई मुकाम न हासिल करने से कहीं बेहतर है कि इंसान कोई छोटी शुरुआत करके बड़े से बड़ा मुकाम को हासिल करने की कोशिश करे|

छोटे-छोटे कदम बढ़ाकर ही बड़े-बड़े फासले तय किये जा सकते हैं| मनुष्य छोटी-छोटी उपलब्धियों से ही इतिहास रच देता है|

दोस्तो आपको ये Changing Thought Inspirational कहानी  कैसी लगी आप अपने सुझाव या विचार नीचे कमेंट बॉक्स मे लिख सकते है।

Leave a Comment

कृपया प्रतीक्षा करे

Latest अपडेट प्राप्त करे

Hindiasha की नयी पोस्ट की अपडेट के लिए सब्सक्राइब करे
%d bloggers like this: