Royal Enfield Bullet (बुलेट) – सफलता की कहानी |

नमस्कार दोस्तों ! आपका फिर से स्वागत है hindiasha.com की नयी पोस्ट  “Royal Enfield Bullet (बुलेट) सफलता की कहानी |

Royal Enfield story

दोस्तों बुलेट को पसंद करने वाले लोग कहते है की बाइक हो तो बुलेट जैसी  इसीलिए ये बाइक रोड से ज्यादा लोगो के दिलो में राज करती है भले ही हम इसके ऐड टीवी में न देखे हो लेकिन इस बाइक की ताकत से कोई भी अनजान नहीं है जी हां दोस्तों मै बात कर रहा हु Royal Enfield की जिसकी भारत में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में इसके फैन्स है


इस ब्रांड की लोकप्रियता का अन्दाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है Royal Enfield के कस्टमर इतने ब्रांड लॉयल होते है की इसकी नई बाइक के लिए वे कई महीनो तक इंतज़ार कर सकते है और दोस्तों Royal Enfield  को इंडियन ब्रांड के तौर पर जाना जाता है लेकिन आपको यह जानकार हैरानी होगी की इसकी शुरुआत 125 साल पहले इंग्लैंड में हुयी थी और ये आगे चलकर भारतीय ब्रांड कैसे बना इसके पीछे भी बड़ी दिलचस्प कहानी है तो चलिए दोस्तों लोगो के दिलो पर राज करने वाली बाइक की सक्सेस स्टोरी के बारे में जानते है

दोस्तों Royal Enfield  की शुरुआत साल 1862 में अल्बर्ट एंडी ने किया था और उस समय इसका नाम Eddy Manufacturing था जो की रॉयल स्माल आर्म्स फैक्ट्री के लिए बन्दूक के छोटे छोटे पार्ट्स बनाने का काम किया करती थी और आiगे चलकर 1896 में ही Eddy Manufacturing के अंतर्गत ही एक और कंपनी बनाई गयी और जिसका नाम दिया गया “The New Enfield Cycle Company“ यह Company मुख्य रूप से साइकिल और उसके कंपोनेंट्स बनाती थी

कुछ सालो बाद कंपनी ने एक नई सोच के साथ आगे बढ़ने का फैसला किया और फिर 1899 में उन्होंने एक 4 पहियों वाली साइकिल बनायी और उसके ठीक २ साल बाद 1901 में उन्होंने साइकिल पर ही इंजन जोड़कर Royal Enfield ने अपनी पहली मोटर साइकिल लांच की’

जिसमे उन्होंने मिनेर्वा नाम की कंपनी का इंजन यूज किया और फिर 1903 में कंपनी ने कार प्रोडक्शन में भी अपना कदम बढ़ा दिया हलाकि उन्हें इस बिज़नस से अगले कुछ साल तक बहुत ज्यादा नुक्सान झेलना पडा और फिर 1907 में उन्होंने अपनी कार बनाने वाली कंपनी को आल डेज नाम की कंपनी को बेच दी लेकिन मोटरसाइकिल बनाने के बाद उन्हें सबसे बड़ी सफलता 1914 में मिली जब वर्ल्ड वॉर के दौरान उन्हें ब्रिटिश डिपार्टमेंट को मोटरसाइकिल सप्लाई करने का एक बड़ा आर्डर मिला

और फिर Imperial Russian Government ने भी उन्ही से मोटर साइकिल खरीदने का फैसला किया यहाँ से Enfield की मोटरसाइकिल बहुत तेज़ी से प्रशिद्ध होने लगी और फिर दुसरे वर्ल्ड वार के दौरान ब्रिटिश अथॉरिटीज ने Enfield  के साथ मिलिट्री मोटरसाइकिल बनाने का एक बड़ा कॉन्ट्रैक्ट साईन किया और दूसरे विश्व युद्ध में Enfield की मोटर साइकिल बहुत बड़े स्तर पर यूज की गयी

भारत में Royal Enfield को 1949 में लाया गया था हलाकि लोगो ने इसे 1954 से पसंद करना शुरू किया जब भारतीय सरकार ने पुलिस और आर्मी के लिए इस बाईक का यूज किया था और उस समय 350 cc की 800 मोटरसाइकिल मंगवाई गयी थी 1955 में Royal Enfield  कम्पनी ने मद्रास मोटर्स के साथ पार्टनरशिप की और कुछ इस तरह से Royal Enfield इंडिया की शुरुआत हुयी

 

मद्राश मोटर्स ने पहली बार 350 CC की मोटरसाइकिल बेचनी शुरू की इसके कंपोनेंट्स वे इंग्लैंड से मंगवाते थे और फिर 1962 में मोटरसाइकिल के सभी कंपोनेंट्स इंडिया में ही बनाने लगे हालाकि आगे चलकर Royal Enfield इंग्लैंड को ज़बरदस्त घाटा हुआ और इसलिए 1971 में वह company बंद करनी पड़ी


लेकिन भारत में मोटर साइकिल का प्रोडक्शन जारी रखा गया हलाकि भारत में भी इस कंपनी को घाटा हो रहा था इसीलिए यह कंपनी आगे चलकर Eicher मोटर्स लिमिटेड के साथ मर्ज हो गई और Eicher ग्रुप के मालिक विक्रम लाल के बेटे सिद्धार्थ ने साल 2000 में आउटलेट और मार्केटिंग के दम पर फिर से इस मोटरसाइकिल की बिक्री बढ़ा दी क्योकि उन्होंने समय के हिसाब से डिजाईन में बदलाव किया था और Enfield Bikers के लिए अलग अलग राइड भी Organise करती है जिस से लोगो में भी इस बाइक का क्रेज बढ़ता है

 

और आज के समय में Enfield की बाइक केवल भारत में ही नही बल्कि अमेरिका , साउथ अफ्रीका,ऑस्ट्रेलिया, और इंडोनेशिया जैसे 50 से ज्यादा देशो में बेचीं जाती है 2013 में Enfield की कुल 81446 मोटरसाइकिल बिकी तो वही 2014 में 51% ग्रोथ के साथ कुल 123018 मोटरसाइकिल बेचीं गयी.

और अभी हाल ही में 18 सितम्बर 2017 को Royal Enfield की Classic 350 और Classic 500 मॉडल की बाइक लांच की गयी

दोस्तों मुझे उम्मीद है Royal Enfield की यह कहानी जरुर पसंद आई होगी अगर आप भी इस कंपनी की Bike लेने की सोच रहे है या आपके पास पहले से है तो हमें कमेंट करके जरुर बताये आपका बहुमूल्य समय देने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद

Read this –


Leave a Comment

कृपया प्रतीक्षा करे

Latest अपडेट प्राप्त करे

Hindiasha की नयी पोस्ट की अपडेट के लिए सब्सक्राइब करे
%d bloggers like this: